गुरुवार, मई 17, 2012

‘इंडिया टुडे’ में ‘श्रेष्ठ सिख कथाएं’

 ‘इंडिया टुडे’ के 23 मई 2012 के अंक में मेरी पुस्तक ‘श्रेष्ठ सिख कथाएं’ का समीक्षात्मक उल्लेख किया गया है ।

6 टिप्‍पणियां:

  1. सिखों का इतिहास बहुत गौरवमय रहा है। वह किसी के लिए भी प्रेरणा-स्रोत है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये आपकी सृजनात्मकता का पुरस्कार है...बधाइयाँ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बधाई श्रेष्ठ सिख गाथा के प्रकाशन और इंडिया टुडे में समीक्षा पर. आपने जो स्रजन श्रंखला शुरू की है वह अनवरत नए आयाम हासिल करती रहे.

    उत्तर देंहटाएं